Thursday, January 1, 2009

इस नए साल में आओ ये इरादा कर लें
दिल में अख़लाक़ ओ ख़ुलूस और ज़ियादा कर लें
ज़ब्त ही कर लें सभी रंज-ओ -अलम दुनिया के
हम दिलो ज़हन को कुछ और कुशादा कर लें

अख़लाक़=शिष्टाचार , ख़ुलूस=आपसी प्यार
ज़ब्त=समो लेना
रंजो अलम=दुःख-तक़्लीफ़
कुशादा=विस्तृत

_____________________________

16 comments:

Pt.डी.के.शर्मा"वत्स" said...

पहने सपनों की विजय माल
हो बहुत मुबारक नया साल
उपहार पुष्प मादक गुलाब
मीठी सुगंध उत्सव शबाब

शुभ गीत नृत्य और मधुर ताल
हो बहुत मुबारक नया साल

shelley said...

aamin

अनुपम अग्रवाल said...

behtareen,hameshaa kee tarah.

Harkirat Haqeer said...

ज़ब्त ही कर लें सभी रंज-ओ -अलम दुनिया के...

तेरे मेरे चाहने से नहीं बदलते किसी के रंजो-गम
हाँ ये और बात है के जरा सी जख्‍मों पे मलहम लग जाए
ये भी क्‍या कम हौसला है तेरे जज्‍बातों का....
के रोते हुए चेहरे पे जरा सी हंसी आ जाए....?!?
आमीन...

hem pandey said...

'हम दिलो ज़हन को कुछ और कुशादा कर लें'
- उत्तम.

अनुपम अग्रवाल said...

NAV VARSH KEE HARDIK SHUBHKAAMNAYEN

Dr Prabhat Tandon said...

यही जज्बात तहा जिन्दगी रहे तो यह मुल्क किसी स्वर्ग से कम न दिखे !!

श्रद्धा जैन said...

kamaal kahte hain aap

aaj pahli baar aana hua lekin bus kadam ruk hi gaye aur aapko padne baith gayi
aapse bhaut seekhne milega aesi umeed hai

ye line khas kar bhaut pasand aayi

ज़ब्त ही कर लें सभी रंज-ओ -अलम दुनिया के
हम दिलो ज़हन को कुछ और कुशादा कर लें

रश्मि प्रभा said...

आमीन.....
इरादा बहुत नेक है

Dr.Bhawna said...

आपको नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं ...

गौतम राजरिशी said...

"दिल में अख़लाक़ ओ ख़ुलूस और ज़ियादा कर लें"
...मगर कैसे जनाब ?
नये साल की आपको हार्दिक शुभकामनायें

MUFLIS said...

Gautamji ! aapne poochha kaise !!
janaab...
"mun meiN sankalp liye paaoN
barhaao to sahee..."

योगेन्द्र मौदगिल said...

वाह.. बंधुवर वाह.. बधाई स्वीकारें..

RC said...

Thanks for your comments on 'dillagi ushhaaq se ..". I appreciate your frank feedback and want to make sure there are no errors.
I wanted to write 'Maqtub' - written in fate. Is that incorrect?

RC

shelley said...

tarz. e. byaan par kuch naya padhne ki ichchha hai

Harkirat Haqeer said...

Muflish ji nayi post ka intjar hai....?!?